Calcium Deficiency in Hindi

Let’s Start, Calcium Deficiency in Hindi,

हेलो दोस्तों ! कैसे हो आप सब उम्मीद करता हूं कि आप सब स्वस्थ होंगे 😊

दोस्तों, कैल्शियम हमारे शरीर के लिए बहुत ही इम्पॉर्टेंट रोल प्ले करता है, तो आज के इस Post में हम discuss करेंगे कैल्शियम के बारे में की कैल्शियम की कमी से क्या होता है ? कैल्शियम की कमी होने के क्या क्या कारण हैं ? कैल्शियम की कमी से हमारे शरीर में क्या क्या लक्षण नजर आते हैं ? इसके साथ साथ हम जानेंगे कि कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए क्या क्या घरेलू उपाय किये जा सकते हैं यानि किन चीजों का सेवन करने से हम कैल्शियम की कमी को दूर कर सकते हैं ?

कैल्शियम एक महत्वपूर्ण खनिज यानि मिनरल है। जो हड्डी के रख रखाव में मुख्य मदद करता है। शरीर को 99% से भी ज्यादा कैल्शियम दांतों और हड्डियों में ही होता है । इसके अलावा शरीर का बाकी बचा हुआ 1% कैल्शियम अन्य महत्वपूर्ण कार्यों में सहायता करता है। जैसे- मांस मांसपेशियों का रख रखाव करना, ह्रदय को मजबूत रखना, कैल्शियम हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है, इसके साथ साथ ही शरीर की कोशिकाओं में भी बहुत ही इम्पॉर्टेंट रोल प्ले करता है।

कैल्शियम की कमी होने से क्या होता है?

  1. गर्भ में पल रहे बच्चे को खतरा:- तो सबसे पहले इसका प्रभाव पड़ता है वह गर्भवती महिलाओं को पड़ता है । गर्भवती महिलाओं के भ्रूण के विकास के लिए कैल्शियम के अत्यधिक आवश्यकता होती है । ऐसे में उनके शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाए तो भ्रूण का जो विकास बाधित हो जाता है ।calcium deficiency
  2. महिलाओ में पीरियड्स की समस्या:- इसके अलावा लड़कियों में मासिक धर्म के दौरान खून के साथ साथ कैल्शियम की एक बड़ी मात्रा शरीर से बाहर निकल जाती है । इसी तरह महिलाओं में प्रसव के दौरान काफी मात्रा में कैल्शियम शरीर से बाहर निकल जाता है । इस तरह महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी होती है तो इससे उन्हें रेगुलर थकान बने रहना, शरीर बहुत ज्यादा कमजोर हो जाना, सुस्ती महसूस होना, इस तरह के रोग होने की काफी ज्यादा आशंका होती है ।
  3. कैंसर का खतरा:- एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कैंसर का खतरा बढ़ जाता है । इसका कारण यह है कि यदि कोशिकाएं सही प्रकार से विकसित नहीं हो पाती हैं उनके चेक पॉइंट पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिससे कि वे अनियंत्रित होकर गलत ढंग से विभाजित होना शुरू हो जाती हैं । इस तरह शरीर में कैंसर बन जाता है ।
  4. दिल की बीमारी:- कैल्शियम की कमी से ब्लड प्रेशर पर प्रभाव पड़ता है। ब्लड प्रेशर पर प्रभाव पड़ना मतलब ह्रदय रोगों को जन्म देना है । जब नियमित रूप से ब्लड की संतुलित मात्रा ह्रदय तक नहीं पहुंच पाती है तो ऐसे में हार्टअटैक या हार्ट स्ट्रोक होने का खतरा बढ़ जाता है ।
  5. Osteoporosis का खतरा: – कैल्शियम की कमी होने से हमारे शरीर की कई महत्वपूर्ण हड्डियां समय से पहले या बाद में टूट जाती हैं और कई बार हल्की सी चोट लगने पर भी इसमें फ्रैक्चर हो जाता है । हड्डियों के टूटने के कारण पेशंट को ओस्टियोपोरोसिस बीमारी भी हो सकती है ।
  6. Immunity कम हो जाना: – यदि पेशेंट के शरीर में कैल्शियम की कमी हद से ज्यादा हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी कमज़ोर हो जाती है जिससे शरीर में कई तरह की अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है ।
  7. High Blood Pressure का खतरा: – नसों में ब्लड का प्रवाह सामान्य से बहुत अधिक तेज हो जाता है । ऐसे में दिमाग की नसों के फटने का डर हो सकता है । इसलिए हाई ब्लड प्रेशर एक खतरनाक बीमारी कहा जाता है ।calcium ki kami se kay hota hai
  8. नींद में कमी होना:- नींद में कमी होना अपने आप में एक बहुत गंभीर समस्या है । हालांकि ऐसा देखा गया है कि लोग इस समस्या पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और उन्हें लगता है कि यह उनके रेगुलर लाइफ की वजह, लाइफस्टाइल की वजह से, या फिर उनका रूटीन ही ऐसा है । लेकिन कई बार आपके शरीर में जब इस तरह के कैल्शियम की कमी होती है, तो आपकी नींद खराब हो जाती है और नींद न आना या नींद की कमी होना भी एक अपने आपमें रोग है ।

कैल्शियम की कमी के कारण ?

  1. आहार:- यदि आप अपने दैनिक आहार में कैल्शियम युक्त चीजों का सेवन बिल्कुल भी नहीं करते । अत्यधिक खाने में फॉस्फोरस और मैग्नीशियम का सेवन करते हैं तो इससे आपको कैल्शियम की कमी हो जाती है ।
  2. पीरियड्स,गर्भावस्था,ब्रेस्ट फीडिंग:- इसके अलावा कैल्शियम की कमी की समस्या सबसे ज्यादा महिलाओं में देखी जाती है । क्योंकि महिलाओं को कई सारे दौर से गुजरना पड़ता है जैसे कि मासिक धर्म, गर्भधारण, ब्रेस्ट फीडिंग, और बाद में मेनोपॉज। तो ये सारी कंडीशंस के चलते महिलाओं में कैल्शियम की कमी देखी जाती है ।
  3. Vitamin D की कमी: – अगर आप हर दिन पर्याप्त मात्रा में सूर्य की रोशनी या धूप नहीं लेते तो इससे आपकी बॉडी में कैल्शियम का स्तर कम होने लगता है ।what causes of deficiency of calcium
  4. Caffine का अधिक सेवन करना: – यदि आप अपने डेली रूटीन में अधिक मात्रा में चाय या कॉफी का सेवन करते हैं, तो इससे भी कैल्शियम की कमी हो सकती है ।
  5. Sugar: – यदि आप अपनी दिनचर्या में शक्कर युक्त पदार्थों का ज्यादा मात्रा में सेवन करते हैं, तो यह शरीर में कैल्शियम की कमी के साथ साथ आपकी हड्डियों को भी कमजोर करता है ।causes of calcium deficiency
  6. पाचन क्रिया का कमजोर होना:- शरीर में पाचन क्रिया कमजोर होने से हम जो भी भोजन करते हैं इससे कैल्शियम का सही तरीके से अवशोषण नहीं हो पाता या फिर बहुत कम हो पाता है । इससे हमारी पाचन क्रिया को अधिक मेहनत की आवश्यकता पड़ती है ।
  7. ड्रिंकिंग सोडा का सेवन:- इसके अलावा ड्रिंकिंग सोडा का सेवन करने से भी आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है ।

कैल्शियम की कमी के क्या क्या लक्षण हैं ?

  1. हड्डियों में दर्द होना:- कैल्शियम की कमी से हमारी हड्डियों में दर्द होता है यानि पूरे शरीर में हमें दर्द सा महसूस होता है । काफी समय तक एक जगह बैठे रहने के बाद उठने पर जोड़ों में दर्द होना कैल्शियम की कमी को दर्शाता है ।symptom of calcium deficiency
  2. मासिक धर्म में दर्द होना:- जिन महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है, उनको मासिक धर्म के दौरान दर्द होता है । इसके साथ ही मासिक धर्म देर से आना, irregular होना भी कैल्शियम की कमी के संकेत होते हैं ।
  3. बहुत अधिक थकान:- बहुत ज्यादा थकान, सुस्ती, आलस आना कैल्शियम की कमी के लक्षण है। शरीर में एनर्जी न होना, पूरी तरह काम में फोकस न कर पाना, ये सब बातें दर्शाती हैं कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है ।
  4. नाखुनो का टूटना:- कैल्शियम की कमी से नाखून इतने कमजोर हो सकते हैं कि खुद बखुद टूटने लग जाते हैं ।symptom of calcium deficiency in Hindi
  5. Skin का Dry होना: – यदि आपकी त्वचा रूखी और लाल हो रही हो और उसमें खुजली हो रही हो तो आप समझ जाएं कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है ।
  6. दांतों की समस्या:- जब कैल्शियम की कमी होती है तो दांतों की समस्या शुरू हो सकती है। जैसे- दांत कमजोर होना, मसूड़ों की समस्याएं, दांतों में सड़न,इत्यादि।
  7. दिल की धड़कन का तेज़ होना:- दिल को सही तरह से काम करने के लिए कैल्शियम की जरूरत होती है । यदि आपको कैल्शियम की कमी हो तो आपकी दिल की धड़कन अचानक से बढ़ने लगती है जिससे कि आपको बेचैनी सी महसूस होती होगी ।
  8. बालों का झड़ना:- यदि आपके बाल लगातार झड़ते हो या फिर बहुत रूखे हो गए हों तो यह दर्शाता है कि आपको कैल्शियम की कमी हो गई है ।
कैल्शियम की कमी दूर करने के घरेलू उपाय –
  1. अदरक वाले पानी का सेवन करें:- इसके लिए आप एक बर्तन में डेढ़ कप पानी लें। उसमें आप 1 इंच अदरक का टुकड़ा कद्दूकस करके डाल दें । अब आप पानी को अच्छी तरह उबाल लें । जब पानी एक कप जितना हो जाए । इसे छानकर चाय की तरह सिप सिप करके पीएं । यह कैल्शियम की कमी को दूर करने में बहुत ही मदद करता है ।remedies of calcium deficiency
  2. तिल का सेवन:- रोजाना दो चम्मच तिल का सेवन करें। यदि आप इसे डायरेक्ट नहीं खा सकते तो तिल की चिक्की या लड्डू भी आप खा सकते हैं ।what are the remedies of deficiency of calcium
  3. रागी का सेवन:- हफ्ते में कम से कम दो से तीन बार रागी से बनी इडली, डोसा या दलिया खाएं । इससे पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलेगा ।
  4. दूध और बादाम का सेवन:- अगर आप डेली सुबह को रातभर भीगी हुई चार से पांच बादाम छीलकर खाते हैं, उसके बाद आप एक ग्लास दूध पी लें तो इससे आपको भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है। क्योकि दूध और बादाम दोनों ही कैल्शियम का बहुत अच्छा स्रोत हैं ।
  5. जीरे का पानी:- इसके लिए आप एक बर्तन में दो ग्लास पानी लें, फिर उसमें एक चम्मच जीरा डालें। और उस पानी को इतना उबालें कि पानी लगभग एक ग्लास हो जाए । अब आप पानी को छानकर सिप सिप करके आराम से पीएं । ये आपके लिए बहुत ही लाभदायक होगा ।remedies of calcium deficiency in Hindi
दोस्तों इसके साथ साथ आप इन सब चीज़ो का भी सेवन करें।

विटामिन डी:- विटामिन डी युक्त पदार्थों का सेवन करें। जैसे – दूध, मक्खन, पनीर, टोफू, मछली, अंडा आदि।

importance of calcium in vitamin D

अनाज:- जैसे -गेहूं, बाजरा, मूंग, राजमा, सोयाबीन, जैसे मोटे अनाज का सेवन करने से कैल्शियम की कमी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है ।

importance of calcium in anaj

हरी सब्जिया:- हरी सब्जियों का नियमित रूप से सेवन करें। जैसे- पालक, मेथी, फूलगोभी, शलगम, गाजर, टमाटर, ककड़ी, आदि

importance of calcium in green vegetables

Fruits: – नियमित रूप से फलों का भी जरूर सेवन करें । यदि आप पपीता, संतरा, लीची, अनानास, कीवी, जैसे फलों को रेगुलर खाते हैं तो इससे भी आपको भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है ।

सूरज की रोशनी:- दोस्तों एक और बात का जरूर ध्यान दें कि यदि आप रोज़ सुबह को 8 से 10 के बीच में 15 मिनट के लिए सूरज की रोशनी लेते हैं तो इससे आपके शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होगी ।

मुझे उम्मीद है की आपको मेरा ब्लॉग Calcium Deficiency in Hindi जरूर पसंद आया होगा। 

अगर आपको Post पसंद आया है, तो आप इस Post को अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करिए और अगर आपके मन में कोई कन्फ्यूजन है तो आप हमें नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं ।

यह भी पढ़े:-

One thought on “Calcium Deficiency in Hindi

  • July 12, 2020 at 6:15 am
    Permalink

    Bhot achhi post he thanks👍

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *